एक रुपये की कीमत ( एक प्रेरणादायक कहानी )

बहुत समय पहले की बात है सुब्रोतो लगभग 20 साल का एक लड़का था और कलकाता की एक कालोनी में रहता था | उसके पिता जी एक भट्टी चलाते थे जिसमे वे दूध को पका – पका कर खोया बनाने का काम करते थे | सुब्रोतो वैसे तो एक अच्छा लड़का था लेकिन उसमे फिजूलखर्ची … Read more